Sunday, November 27, 2022

कृषि की पढ़ाई करने वाली लड़कियों को सरकार दे रही है 15 हजार, ऐसे करें अप्लाई, ये डॉक्यूमेंट्स हैं जरूरी

पढ़ाई- लिखाई और खेल- कूद के साथ- साथ महिलाएं कृषि के क्षेत्र में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलकार चल कर रही हैं. खास बात यह है कि महिलाएं कृषि क्षेत्र में न सिर्फ काम कर रही हैं बल्कि, अच्छी फसल उगाकर नाम भी कमा रही हैं. ऐसे भी फसलों की बुआई से लेकर सिंचाई और खरपतवार हटाने में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है. यही वजह है कि कृषि क्षेत्र में भी महिला सशक्तिकरण और उनकी भागिदारी सुनिश्चित करने के लिए राजस्थान सरकार ने एक कृषि छात्रा प्रोत्साहन योजना शुरू की है. इस योजना के तहत गहलोत सरकार कृषि के क्षेत्र की नई तकनीकों की पढ़ाई करने और अन्य वैज्ञानिक तरीकों की ट्रेनिंग देने के लिए लड़कियों को प्रोत्साहन राशी दे रही है. अभी तक सैंकड़ों छात्राओं ने इस योजना का लाभ उठाया है.

जानकारी के मुताबिक, राजस्थान सरकार कृषि संकाय में 11वीं कक्षा से लेकर पीएचडी की पढ़ाई कर रही छात्राओं को 5 हजार से लेकर 15 हजार की राशि प्रति वर्ष दे रही है. लेकिन इस योजना का लाभ लेने के लिए राजस्थान का नागरिक होना जारूरी है. साथ ही लाभार्थी को राजकीय एवं राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त विद्यालय, महाविद्यालय या विश्वविद्यालय में कृषि संकाय की स्टूडेंट होना जरूरी है. संयुक्त कृषि निदेशक जीएल कुमावत ने का कहना है कि योजना के तहत कृषि की पढ़ाई करने वाली 11वीं और12वीं कक्षा की छात्राओं को प्रतिवर्ष 5 हजार रुपये दिए जा रहे हैं. जबकि, ग्रेजुएट, एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग, फूड प्रोसेसिंग और पोस्ट ग्रेजुएट (एमएससी कृषि) से पढ़ाई करने वाली छात्राओं को हर साल 12 हजार रुपये दी जाएंगी. इसी तरह कृषि विषय में पीएचडी करने वाली छात्राओं को 15 हजार रुपये प्रति वर्ष (अधिकतम 3 वर्ष) तक प्रोत्साहन राशि के तौर पर दिए जाएंगे.

ऐसे करें आवेदन

अगर कोई छात्रा इस योजना का लाभ उठाना चाहती है तो उसे सबसे पहले आवेदन देना होगा. ई-मित्र के माध्यम से भी आवेदन कर सकती हैं. या फिर आप खुद ही घर बैठे राज किसान साथी पोर्टल पर प्रोत्साहन राशि के लिए आवेदन कर सकती हैं. योजना अथवा आवेदन के संबंध में कोई भी जानकारी प्राप्त करने के लिए छात्राएं निकट के किसान सेवा केंद्र पर कृषि पर्यवेक्षक या सहायक कृषि अधिकारी या जिला स्तर पर उप निदेशक कृषि (विस्तार) से भी संपर्क कर सकती हैं.

स्कॉलरशिप के लिए आवश्यक दस्तावेज

योजना का लाभ लेने वाली छात्राओं को आवेदन करने से पहले जरूरी दस्तावेज की भी जरूरत पड़ेगी. इसलिए लाभार्थियों को बेसिक एड्रेस प्रूफ, संस्था प्रधान का ई-साइन प्रमाण पत्र, आधार कार्ड और मार्कशीट सहित कई दस्तावेज अपलोड करने पड़ते हैं. साथ ही नियमित विद्यार्थी होने का संस्था प्रधान का प्रमाण पत्र तथा श्रेणी सुधार हेतु प्रवेश नहीं लेने का प्रमाण पत्र ऑनलाइन अपलोड करना पड़ेगा.

नोट: इस लेख में दी गई सभी जानकारी केवल जानकारी के उद्देश्य के लिए लिखी गई है।

Related Articles

नवीनतम