fbpx
Tuesday, February 7, 2023

FIFA World Cup: अर्जेंटीना तीसरी बार चैंपियन, लियोनेल मेसी ने पूरा किया सपना

Argentina win the World Cup on penalties: फीफा विश्वकप 2022 (FIFA World Cup Final) का फाइनल मुकाबला अर्जेंटीना ने फ्रांस को पेनल्टी शूटआउट में हराकर 36 सालों के बाद विश्व चैंपियन बनने का कारनामा किया है. ये विश्वकप स्टार फुटबालर लियोनेल मेसी का विदाई विश्वकप था और उनके सपने को पूरा करने का आखिरी मौका भी. लियोनेल मेसी ने अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप ही प्रदर्शन किया और अपनी टीम को चैंपियन बनाकर ही दम लिया. निर्धारित समय और फिर एक्स्ट्रा टाइम में अर्जेंटीना और फ्रांस की टीमें 3-3 गोल से बराबर थीं, लेकिन पेनल्टी शूटआउट में अर्जेंटीना ने फ्रांस को 4-2 से हराकर तीसरी बार विश्व चैंपियन बनने का सफर पूरा किया.

बेहद नाटकीय रहा फाइनल मुकाबला

अर्जेंटीना और फ्रांस के बीच विश्वकप फाइनल का मुकाबला बेहद नाटकीय भी रहा. मैच के 80वें मिनट तक फ्रांस 2-0 से आगे था. अर्जेंटीना के लिए लियोनेल मेसी ने पेनल्टी किक पर 23वें मिनट में ही पहला गोल कर दिया था. अर्जेंटीना के लिए मेसी के पास से एंजेल डि मारिया ने 36वें मिनट में गोल करके अपनी टीम को 2-0 से आगे कर दिया था. 80वें मिनट की शुरुआत तक मुकाबला ऐसे ही रहा तो पूरी दुनिया ने मान लिया था कि अर्जेंटीना मैच जीत जाएगा. लेकिन तभी फ्रांस के किलियन एम्बापे ने 80वें मिनट में पेनल्टी और फिर 81वें मिनट में पास को सन्नाटेदार तरीके से गोलपोस्ट में डाल कर पूरी दुनिया को सकते में डाल दिया. इसके बाद ये स्कोरलाइन बराबर था. निर्धारित समय के बाद 8 मिनट का इंजुरी टाइम मिला, जिसमें दोनों ही टीमें कोई गोल नहीं कर सकी. फिर 15-15 मिनट के दो एक्ट्राटाइम दिये गए. जिसमें लियोनेल मेसी ने 108वें मिनट में दूसरा गोल करके अर्जेंटीना को बढ़त दिला दी. इसके बाद फिर लगा कि अर्जेंटीना मुकाबला जीत ही जाएगा, तभी मैच खत्म होने से कुछ समय पहले मैच के 118वें मिनट में एम्बापे ने फिर से अपना जादू दिखाया और पेनल्टी किक के जरिए फ्रांस को 3-3 से बराबरी दिला दी. ये एम्बापे का हैट्रिक गोल था. इसके बाद दोनों ही टीमें कोई गोल नहीं कर सकी और मुकाबला पेनल्टी शूटआउट में चला गया. 

पेनल्टी शूटआउट में छाए अर्जेंटीना के गोलकीपर एमिलियानो मार्टिनेज

अर्जेंटीना की हर कोशिश को अकेले दम पर एम्बापे ने बेकार कर दिया तो दोनों ही टीमें पेनल्टी शूटआउट में गई. फ्रांस के लिए पेनल्टी जमाने का पहला मौका किलियन एम्बापे को मिला. उन्होंने गेंद को गोलपोस्ट में डाल दिया. इसके जवाब में अर्जेंटीना के स्टार लियोनेल मेसी को पेनल्टी लेने का मौका मिला. उन्होंने इस मौके को नहीं गंवाया और गेंद को गोलपोस्ट में पहुंचा दिया. इसके साथ ही फिर से दोनों टीमें बराबरी पर आ गई. लेकिन इसके बाद फ्रांस के दो खिलाड़ियों की पेनल्टी किक को अर्जेंटीनी गोलकीपर एमिलियानो मार्टिनेज ने रोक लिया. भले ही चौथी कोशिश में फ्रांस ने दूसरी बार गोलपोस्ट में गेंद डाली, लेकिन तब तक अर्जेंटीना के चारों खिलाड़ी गेंद को गोलपोस्ट में डालकर अपनी टीम को 4-2 से जीत दिला चुके थे. इस टूर्नामेंट में गोल्डन बाल एम्बापे ने जीता, तो मेसी को गोल्डन बाल अवॉर्ड मिला. वहीं, एमिलियानो को सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर का अवॉर्ड मिला.

नोट: इस लेख में दी गई सभी जानकारी केवल जानकारी के उद्देश्य के लिए लिखी गई है।

Related Articles

नवीनतम