fbpx
Saturday, June 10, 2023

20 दिन से जल रहा कोयला, लोगो का सांस लेना हुआ दुर्भर, जानिए क्या है मामला

यह मारवाड़ी कहावत आपने सुनी होगी कि घर में नही आखत का बीज, बंदो खेले आखातीज, यह कहावत आरएसएमएमएल (RSMML) पर स्टीक से बैठ रही हैं. ऐसा इसलिए बता रहे कि पिछले 20 दिन से मातासुख में लिग्नाइट कोयले की खदान सें जहरीला धुआं निकल रहा हैं. नागौर जिले की प्रसिद्ध कसनाऊ-मातासुख लिग्नाईट कोयला परियोजना 11 माह से बंद पड़ी हैं. मातासुख खदान में खुला पड़ा कोयला जलकर धुएं में उड़ रहा हैं. 20 दिन के बाद भी आरएसएमएमएल (RSMML)द्वारा जल रहे कोयले का समाधान नहीं ढूढ़ा जा रहा है.

इस कारण से गांव वालो का सांस लेना दुर्भर होता जा रहा हैं.आरएसएमएमएल राजस्थान सरकार का एक उपक्रम हैं जो कोयला खनन पर काम करती हैं. लेकिन इस विभाग के पास न तो साधन है ना ही संसाधन हैं जिससे कोयले को बुझा सके. क्योंकि इस विभाग का सारा काम निजी कंपनियों द्वारा ठेके पर किया जाता है.

लोगों का स्वास्थ्य खतरे में
आरएसएमएमएल के पास संसाधन की कमी की वजह सें 20 दिन से माइंस सें धुआं निकलने की वजह से आसपास के गांवों कोयले की धुएं से धुन्ध छा गई हैं. लोगो की यहां रहना दुभर हो गया हैं. विभाग के द्वारा कोयले बुझाने का कोई प्रयास नहीं किया जा रहा हैं. कोयले की धुएं की वजह सें बीमारियां उत्पन्न होने लगी हैं.

धुआं दे रहा है साईलेंट जहर
ग्रामीणों ने बताया कि खदान में उठ रहे धुएं की वजह सें सांस लेना काफी कठिन हो गया हैं. मातासुख लिग्नाईट कोयला खदान में जल रहें कोयले का धुआं इतना खतरनाक हैं कि यदि किसी इंसान की जान जा सकती है. ग्रामीणों ने बताया कि यदि चिकित्सकों की मानें तो धुआं एक तरह से साइलेंट जहर हैं जो ग्रामीणों को अपनी चपेट में ले रहा हैं.

चिकित्सक जगदेव ने बताया कि कोयले का धुआं इंसानों के साथ जानवरों के लिए खतरनाक हैं. कोयले के धुएं में लगातार संपर्क में रहने की वजह सें श्वसन संबंधी बीमारियां उत्पन्न हो सकती हैं. जैसे न्यूमोकोनियोसिस, लंग फाइब्रोसिस, सिलोकोसिस, आंख व नाक में जलन ,त्वचा सें संबंधित कई बीमारियां हो सकती हैं. फरड़ोद के नर्सिंग ऑफिसर हनुमानराम भांबू का कहना हैं कि कोयले की धुएं से अस्थमा, दमा, ब्रोकाइटिस, सिरदर्द ,फेफड़े के कैंसर जैसी घातक बीमारियां हो सकती है.

यह मामला तरनाऊ के पाा कसनाऊ-मातासुख में स्थित लिग्नाईट कोयले की खदान का हैं. इस खदान से उठ रहें धुएं की वजह सें लोगों को इस जहरीले धुएं का सामना करना पड़ रहा है.

Related Articles

नवीनतम